MP में BJP या कांग्रेस कौन आगे है? शपथ पत्र पर ₹1 लाख की शर्त लगाई गई है, और 5 गवाहों के साइन भी कराए

MP election 2023 : शपथ पत्र पर 50 रुपए की शर्त में 5 गवाह शामिल हैं, जो इसे साबित करेंगे। शपथ पत्र में एक पक्ष ने कांग्रेस को, तो दूसरे ने बीजेपी को सरकार बनाने का दावा किया है। शर्त हारने वाले को 3 दिसंबर को जीतने वाले को एक लाख रुपए मिलेंगे।

MP election 2023 bet-of-one-lakh-rupees

मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव के उम्मीदवारों की किस्मत 17 नवंबर को ईवीएम में बंद हो गई है। अब 3 दिसंबर को होने वाले परिणामों का इंतजार है। लेकिन राजनीतिक दलों के कार्यकर्ता और आम लोग चुनावी गुणा-भाग में जुटे हुए हैं। वे अपने-अपने आकलन के हिसाब से शर्त लगा रहे हैं, दलों और उम्मीदवारों की हार-जीत का। सोशल मीडिया पर हाल ही में वायरल हुए एक स्टाम्प पेपर पर बीजेपी और कांग्रेस की जीत-हार की शर्त लगी है, 1 लाख रुपए की।

यह भी पढ़े‘डंकी’ ने रिलीज के साथ इतिहास रचा! यह बन गई है शाहरुख खान की सबसे कम बजट वाली फिल्म, 6 साल में

शर्त में 5 गवाह भी शामिल (MP election 2023)

50 रुपए के शपथ पत्र पर लगाई गई शर्त में 5 गवाह भी शामिल हैं। शपथ पत्र में एक पक्ष ने कांग्रेस को तो दूसरे ने बीजेपी को सरकार बनाने का दावा किया है। 3 दिसंबर को शर्त हारने वाले को जीतने वाले को एक लाख रुपए देने की बात है।

सोशल मीडिया पर वायरल शपथ पत्र से पता चलता है कि छिंदवाड़ा जिले के नीरज मालवीय और धनीराम भलावी के बीच लगी गई शर्त। ग्राम पंचायत सूखापुरा के पूर्व सरपंच धनीराम भालवी का मानना है कि मध्य प्रदेश में कांग्रेस सरकार बनेगी, जबकि हर्रई वार्ड नंबर-8 के निवासी नीरज मालवीय का दावा है कि बीजेपी सरकार बनाएगी।

कमलनाथ की हार जीत को लेकर 10 लाख रुपए की शर्त

धनीराम और नीरज की टक्कर में लगी शर्त में पांच गवाहों के सामने यह फैसला हुआ है कि अगर मध्य प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनती है, तो नीरज मालवीय द्वारा धनीराम को 1 लाख रुपए दिए जाएंगे, और अगर प्रदेश में बीजेपी सरकार बनती है, तो धनीराम नीरज को 1 लाख रुपए राशि में देगा।
शपथ पत्र के मुताबिक, शर्त लगाने वाले धनीराम भलावी और नीरज मालवीय ने अपने-अपने चेक साइन करके गवाह अमित पांडे के पास जमा कर दिए हैं। जो भी जीतेगा, वह अपना चेक अमित पांडे से ले सकेगा।

मध्य प्रदेश में हॉट सीट पर लगी यह शर्त बहुत चर्चा में है।


छिंदवाड़ा में कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ की हार जीत को लेकर 10 लाख रुपए की शर्त लगी है। यहां के प्रकाश साहू और राम मोहन साहू ने कमलनाथ और बीजेपी के बंटी साहू की हार जीत के लिए एक अनुबंध किया है। इसमें अगर कमलनाथ हारते हैं, तो प्रकाश साहू और राम मोहन साहू को 10 लाख देने की बात है। वहीं, अगर बीजेपी उम्मीदवार बंटी साहू हारते हैं, तो राम मोहन साहू और प्रकाश साहू को उतनी ही राशि देनी होगी। इस अनुबंध में तीन गवाहों की भी मौजूदगी थी।”