रणबीर कपूर की ‘एनिमल’ का ट्रेलर, ट्रेलर नहीं बल्कि धमाका है!

Animal Trailer Blast : ‘एनिमल’ का ट्रेलर जो है, वो बिल्कुल धमाकेदार है! इस सीन से ही फिल्म का एक अलग ही माहौल सामने आता है। अब पता चल जाएगा कि इस फिल्म में क्या है वो ‘बाप-बेटे’ की कहानी।

Animal Trailer Blast starring Ranbir Kapoor

रणबीर कपूर की फिल्म ‘एनिमल’ का ट्रेलर लॉन्च हो चुका है। बात तो वाकई गरमा-गरम है। पिछले 5-10 सालों में ऐसी फिल्म शायद ही आई हो, जो इतनी ओर से धमाकेदार दिखी हो। बिल्कुल रॉ, ऑथेंटिक, और हिस्सों में पागलपन भरी हुई है। इंडियन सिनेमा में शायद ही कोई ऐसा डायरेक्टर है, जिसने इतनी विशेष तरीके से एक नई दिशा में बात की हो। Sandeep Reddy Vanga ने एक बड़ी बात की है।

यह भी पढ़ेंसरकार डीपफ़ेक के खिलाफ़ नियम बनाएगी, जिससे डीपफ़ेक बनाने और होस्ट करने वाले प्लेटफ़ॉर्मों पर जुर्माना लग सकता है।

‘एनिमल’ की कहानी (Animal Trailer Blast)

‘एनिमल’ की कहानी एक पिता-बेटे के रिश्ते के बारे में है। काम के बीच बिजी रहने के चलते, पिता बलबीर सिंह अपने बेटे से दूर रहते हैं। यह चीज बेटे को बहुत बुरा लगता है और उसके जीवन को नकारात्मक दिशा में ले जाती है। वो अपने पिता को नाराज़ होने की बजाय उससे बेहद प्यार करता है। ऐसा प्यार, जो अतीत और वर्तमान को जोड़ता है। ट्रेलर में एक दृश्य में उसकी पत्नी उसे कहती है, “पापा के लिए प्यार रोग नहीं, जोग होता है।”

क्योंकि हर फैसला उसके पिता के साथ जुड़ा है। बलबीर सिंह की भी अपनी कहानी है, जिसका अतीत फिर से उभर आता है। बलबीर सिंह पर हमला होता है और उसका बेटा भी एक अजीब रोमांच में चला जाता है। वो गैंगस्टर बन जाता है, पर उसके अंदर का ‘एनिमल’ जग जाता है। उसे अपने पिता का बदला लेने के लिए हर हद तक जाने को तैयार हो जाता है। यह उसकी कहानी कहां तक जाएगी, ये तो फिल्म देखने पर ही पता चलेगा।

रणवीर कपूर एक अलग अंदाज में

भारत में, एक पिता और उसके बेटे के बीच कई बार एक अलगाव होता है। ‘एनिमल’ फिल्म ने इस बात को अपने ट्रेलर में जबरदस्त तरीके से दर्शाया है। रणवीर कपूर ने एक अलग अंदाज में किरदार निभाया है, जो अच्छा लगा। वो एंटी-हीरो के रूप में दिखे, लेकिन मानसिक रूप से वो बीमार नहीं थे। संदीप रेड्डी वांगा ने उन्हें काफी महज विलेन नहीं बनाया। उनकी फिल्मों में वो अलगा पन दिखता है। वो सिर्फ वो कहते हैं जो होता है, और समाज की मान्यताओं को ध्यान में रखते हुए। ‘एनिमल’ उनकी एक अद्भुत रूपरेखा है, जो अपनी ख़ास बातों को दिखाने के लिए किया गया। उन्होंने अपने सोचने और रवैये में काफी बदलाव किया है, और यह सब ‘एनिमल’ देखने के बाद समझ में आएगा।

यह भी पढ़ें31 दिसंबर से कुछ UPI ID बंद हो जाएंगे, लेकिन क्यों और कौन से?

‘एनिमल’ एक पूरी तरह से मेनस्ट्रीम सिनेमा है

‘एनिमल’ एक पूरी तरह से मेनस्ट्रीम सिनेमा है। इसमें भावनाओं का अधिकतम उपयोग किया गया है, और रियलिटी की बातें भी दिखाई गई हैं। संदीप ने अपने कलाकारों से बेहतरीन प्रदर्शन करवाया है। ट्रेलर की ओर से जब सीन खुलता है, वो दर्शकों को बिल्कुल बंधक बांध लेता है। वहाँ अनिल कपूर को सिर्फ एक शब्द – ‘पापा’ कहना होता है, और वो एक संदेश देते हैं। रणवीर कपूर की अदाकारी पर किसी पर शक नहीं कर सकता। लेकिन इस फिल्म में उन्हें एक अच्छे डायरेक्टर की भी जरूरत थी, जो उनकी क्षमताओं को सही दिशा में लाते। ट्रेलर के अंतिम हिस्से में बॉबी देओल नजर आते हैं, जो बहुत ही प्रभावशाली होते हैं। फिल्म का आखिरी सीन मूड को स्पष्ट कर देता है। अब आपको पता चल जाना चाहिए कि ‘एनिमल’ से क्या उम्मीद करनी चाहिए।