सरकार डीपफ़ेक के खिलाफ़ नियम बनाएगी, जिससे डीपफ़ेक बनाने और होस्ट करने वाले प्लेटफ़ॉर्मों पर जुर्माना लग सकता है।

Fine on platforms creating-and-hosting-deepfakes : सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स से बैठक के बाद, केंद्रीय मंत्री अश्विनी वैष्णव ने कहा कि दिसंबर के पहले सप्ताह में हम सभी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स के साथ अगले दौर की बैठक करेंगे, ताकि आज लिए गए निर्णयों को लागू किया जा सके।

Fine on platforms creating-and-hosting-deepfakes

“डीपफेक” को लेकर केंद्र सरकार ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स के साथ एक बैठक की थी। इस बैठक में Google, Facebook, YouTube जैसे ऑनलाइन प्लेटफॉर्म्स भी शामिल थे। बैठक के बाद, केंद्रीय मंत्री अश्विनी वैष्णव ने बताया कि चार अहम मुद्दों पर सहमति हुई है। डीपफेक आजकल लोकतंत्र के लिए एक बड़ी चुनौती बन गया है, और सरकार को इसे जल्दी से जल्द ठीक करने की जरूरत महसूस हो रही है। केंद्र सरकार जल्द ही इस पर नियम बनाएगी। साथ ही, हमें लगता है कि लोगों में इसके खिलाफ जागरूकता फैलाना बेहद जरूरी है।

अश्विनी वैष्णव ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में इस बारे में बताया। सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स से बैठक के बाद, केंद्रीय मंत्री अश्विनी वैष्णव ने प्रेस वार्ता में यह जानकारी दी कि हम डीपफेक से पैदा हुई चुनौतियों का सामना करने के लिए नियम तैयार कर रहे हैं। आज लिए गए निर्णयों को लागू करने के लिए हम दिसंबर के पहले सप्ताह में सोशल मीडिया के सभी प्लेटफॉर्म के साथ अगले दौर की बैठक भी करेंगे।

इन मुद्दों पर हुई बात (Fine on platforms creating-and-hosting-deepfakes)

सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स से बैठक के बाद, केंद्रीय मंत्री अश्विनी वैष्णव ने बताया कि हमने चार मुख्य मुद्दों पर विचार किया था। पहला मुद्दा था – डीपफेक को कैसे पहचाना जा सकता है; यहाँ तक कि लोगों को डीपफेक वीडियो पोस्ट करने से रोकने के लिए क्या किया जा सकता है और ऐसी सामग्री को वायरल होने से कैसे रोका जा सकता है। साथ ही, हमने यह भी विचार किया कि कैसे रिपोर्टिंग तंत्र को लागू किया जा सकता है ताकि किसी भी ऐप या वेबसाइट पर उपयोगकर्ताओं और अधिकारियों को डीपफेक के बारे में जागरूक किया जा सके। इसे लेकर कार्रवाई की जा सके। इस विषय पर जनता को जागरूक करने के लिए सरकार, इंडस्ट्री और मीडिया को मिलकर काम करना होगा।

रश्मिका के डीपफेक वीडियो पर

हाल ही में, एक्ट्रेस रश्मिका मंदाना के एक फेक वीडियो का सामना हुआ था। जिसे AI की मदद से बनाया गया था। इस वीडियो में दिखाया गया था कि एक महिला लिफ्ट में चढ़ती है, जिसका चेहरा रश्मिका जैसा था। उस महिला का चेहरा AI के डीपफेक टेक्नोलॉजी से बिल्कुल रश्मिका जैसा बनाया गया था। इस वीडियो के सार्वजनिक होने के बाद, रश्मिका ने इसे डरावना बताया था।

यह भी पढ़ें31 दिसंबर से कुछ UPI ID बंद हो जाएंगे, लेकिन क्यों और कौन से?

रश्मिका के twitter पर पोस्ट

रश्मिका मंदाना ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म X पर लिखा था, “मेरे डीपफेक वीडियो, जो ऑनलाइन फैल रहे हैं, मुझे बहुत दुःख हो रहा है। यह सिर्फ मेरे लिए ही नहीं, बल्कि हर व्यक्ति के लिए भी डरावना है, जो इस तकनीकी गड़बड़ी के मामले में खतरे में है।

यह भी पढ़ेंहलाल प्रोडक्ट्स बैन के बाद खोज में निकली टीमें, यह रिपोर्ट बिल्कुल हैरान कर देगी